Топ-100
  • लडाकू पतंगें लडाकू पतंगें

    सेनानी पतंगें वे पतंगें होती हैं जो पतंग-लड़ाई के खेल के लिए इस्तेमाल की जाती हैं। परंपरागत रूप से ज्यादातर छोटे, अस्थिर सिंगल-लाइन फ्लैट पतंगें होती हैं जहा...

  • दलसिंहसराय दलसिंहसराय

    दलसिंहसराय या दलसिंग सराय बिहार के समस्तीपुर जिले का एक शहर है, जो बालन नदी के तट पर स्थित है। दलसिंहसराय शहर अंग्रेजों के समय एक तंबाकू और इंडिगो उत्पादन के...

  • 2020 तमिल नाडु में कोरोनावायरस महामारी 2020 तमिल नाडु में कोरोनावायरस महामारी

    भारतीय राज्य तमिल नाडु में 2019-20 कोरोनोवायरस महामारी का पहला मामला 7 मार्च 2020 को पुष्ट किया गया था। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग ने 28 अप्रैल 2020 तक...

  • हावड़ा-इलाहाबाद-मुंबई रेलमार्ग हावड़ा-इलाहाबाद-मुंबई रेलमार्ग

    हावड़ा-प्रयागराज-मुंबई रेलमार्ग प्रयागराज के माध्यम से कोलकाता और मुंबई को जोड़ने वाली एक रेलवे मार्ग है। 2.127 किमी लंबी रेलमार्ग को 1870 में यातायात के लिए...

  • बिरला मंदिर (कोलकाता) बिरला मंदिर (कोलकाता)

    बिरला मंदिर भारत के राज्य पश्चिम बंगाल की राजधानी दक्षिण कोलकाता के आशुतोष चौधरी रोड, बालीगंज में स्थित हैा यह मंदिर कोलकाता के संस्कृतिक से जुड़ा एक हिन्दू ...

  • शिबलापूर शिबलापूर

    शिबलापूर भारतीय राज्य महाराष्ट्र के अहमदनगर ज़िले के संगमनेर तालुके में एक गाँव है। गाँव की प्रसिद्धि का कारण भैरवनाथ मंदिऔर शाहीशिबली बाबा स्थान हैं। यह गाँ...

  • कोष़िक्कोड रेलवे स्टेशन कोष़िक्कोड रेलवे स्टेशन

    कोष़िक्कोड रेलवे स्टेशन या जिसे कालीकट रेलवे स्टेशन के रूप में भी जाना जाता है, भारत के कालीकट शहर का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है। यह दक्षिण भारत के सबसे पुरान...

  • गुंटूर जंक्शन रेलवे स्टेशन गुंटूर जंक्शन रेलवे स्टेशन

    गुंटूर रेलवे स्टेशन आन्ध्र प्रदेश के गुंटूर शहर में स्थित एक भारतीय रेलवे स्टेशन है। यह दक्षिण तट रेलवे ज़ोन में गुंटूर रेलवे मंडल के कृष्णा नहर-गुंटूर खंड प...

  • तृश्शूर रेलवे स्टेशन तृश्शूर रेलवे स्टेशन

    तृश्शूर रेलवे स्टेशन, भारतीय राज्य केरल में स्थित एक रेलवे स्टेशन है। त्रिशूर को केरल की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। त्रिशूर रेलवे स्टेशन ...

  • कटक जंक्शन रेलवे स्टेशन कटक जंक्शन रेलवे स्टेशन

    कटक जंक्शन रेलवे स्टेशन, भारतीय राज्य ओडिशा के कटक शहर में स्थित एक रेलवे जंक्शन है। यह स्टेशन पूर्वी तटीय रेलवे ज़ोन के अन्तर्गत खुर्दा रोड रेलवे मंडल द्वार...

  • वापी रेलवे स्टेशन वापी रेलवे स्टेशन

    वापी रेलवे स्टेशन, गुजरात राज्य के वापी शहर में पश्चिम रेलवे संजाल पर स्थित एक रेलवे स्टेशन है। यह सूरत के बाद दक्षिण गुजरात का एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है। वा...

  • औरंगाबाद रेलवे स्टेशन औरंगाबाद रेलवे स्टेशन

    औरंगाबाद रेलवे स्टेशन सिकंदराबाद-मनमाड खंड पर स्थित एक रेलवे स्टेशन है जो मुख्य रूप से औरंगाबाद शहर को सेवा मुहैया कराता है। यह रेलवे स्टेशन दक्षिण मध्य रेलव...

  • राउरकेला जंक्शन रेलवे स्टेशन राउरकेला जंक्शन रेलवे स्टेशन

    राउरकेला रेलवे स्टेशन भारतीय राज्य ओडिशा के उत्तर-पश्चिमी भाग में सुंदरगढ़ जिले के राउरकेला में स्थित एक रेलवे जंक्शन है। राउरकेला ओडिशा में तीसरा सबसे बड़ा ...

  • दानव दानव

    हिंदू पौराणिक कथाओं में, दानव एक जाति थी जो दक्ष प्रजापति की वंशज थी। वे दनु के पुत्र थे, जो स्वयं दक्ष प्रजापति की पुत्री थीं। दनु स्वर्ग के जल से जुड़ी हुई...

  • गया जंक्शन रेलवे स्टेशन गया जंक्शन रेलवे स्टेशन

    गया जंक्शन रेलवे स्टेशन, भारत में बिहार राज्य के गया शहर में स्थित एक रेलवे जंक्शन स्टेशन है। गया पूर्व मध्य रेलवे ज़ोन के मुगलसराय रेल मंडल के अन्तर्गत आता ...

  • चौधरी योगी चौधरी योगी

    चौधरी योगी का जन्म 28 सितंबर, 2001 को उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहर कानपुर में चौधरी योगी उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहर कानपुर के एक प्रमुख नफरत है. अपने प्रारंभिक...

  • कम्बोडिया का इतिहास कम्बोडिया का इतिहास

    कंबोडिया के इतिहास की जड़ों को भारतीय सभ्यता से जुड़ी हैं । वर्तमान समय में कंबोडिया के अधीन है, जो इलाके का है कि इलाके की राजनीतिक संरचना से संबंधित दस्ताव...

  • २०२० क्रोना वाइरस का स्पेन पर हमला २०२० क्रोना वाइरस का स्पेन पर हमला

    २०१९-२० Coronavirus प्रकोप ३१ जनवरी २०२० करने के लिए स्पेन में फैलने की पुष्टि हुई थी, जब एक जर्मन पर्यटक ने ला गोमेरा में सार्स-CV-२ के लिए सकारात्मक परीक्ष...

  • दुर्गावती, बिहार दुर्गावती, बिहार

    यह जिला के एक बड़े उप-प्रभाग के मुख्यालय के रूप में कार्य करता है. यह राष्ट्रीय राजमार्ग 19 पुराने एनएच-2 पर भभुआ शहर के उत्तर में सड़क से 30.6 किमी पर व्यवस...

  • आशीष राजपूत आशीष राजपूत

    आशीष राजपूत एक छात्र कार्यकर्ता हैं जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े हैं। एबीवीपी के गुरुग्राम महानगर मंत्री रह चुके...

  • पोवीडोन आयोडीन पोवीडोन आयोडीन

    Povidone-iodine, जिसे iodopovidone के रूप में भी जाना जाता है, सर्जरी से पहले और बाद में त्वचा कीटाणुशोधन के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक एंटीसेप्टिक है। इ...

  • शिक्षण सामग्री शिक्षण सामग्री

    पाठ को ठीक से समझाने के लिए शिक्षक जिन-जिन सामग्रियों का प्रयोग करता है वह शिक्षण सामग्री या शिक्षण-अधिगम सहायक सामग्री कहलाती है। इसमें पाठ्यपुस्तक आदि परम्...

  • जगजीत कौर जगजीत कौर

    जगजीत कौर हिंदी फिल्म जगत के मशहूर संगीतकार ख़य्याम की पत्नी और ख़ुद एक मशहूर पार्श्व गायिका हैं। जगजीत कौर ख़य्याम द्वारा संगीतबद्ध किये गए लोकगीतों, शास्त्...

  • धर्म के महत्व के आधार पर देशों की सूची धर्म के महत्व के आधार पर देशों की सूची

    नीचे दी गई तालिका 2009 के शोध में वैश्विक गैलप पोल पर आधारित है। इसमें लोगों से पूछा गया है कि "क्या आपके दैनिक जीवन में धर्म महत्वपूर्ण है?" । "हां" और "नही...

  • अलका राय अलका राय

    अलका राय भारतीय जनता पार्टी से जुड़े भूमिहार ब्राह्मण समुदाय से एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। अलका राय ने 2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा। वह मोहम्मदाब...

  • ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में जूडो ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में जूडो

    जूदो को टोक्यो, जापान में 1964 के खेलों में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों में शामिल किया गया था। 1968 में शामिल नहीं किए जाने के बाद से, जूदो प्रत्येक ओलंपियाड म...

ससंसद महारानी

ससंसद संप्रभु, ससंसाद महारानी का सिद्धांत राष्ट्रमंडल प्रजाभूमियों में संवैधानिक विधि का एक तकनीकी शब्द है जो राजमुकुट की विधायी भूमिका का बोध करता है, जिसके अनुसार राजमुकुट संसद की सलाह और सहमति के साथ विधायी कार्य करता है। राष्ट्रमंडल प्रजाभूमियों तथा वेस्टमिंस्टर प्रणाली पर आधारित व्यवस्थाओं में, देश की तमाम विधायी, न्यायिक एवं कार्यकारी शक्तियों का स्रोत संप्रभु को माना जाता है, जबकि विभिन्न विधानों और परम्पराओं के तहत संप्रभु अपनी इन शक्तियों का कार्यान्वयन करने हेतु अन्य संवैधानिय संस्थानों की सलाह अनुसार कार्य करने पर बाध्य होते हैं। इसी सन्दर्भ में विधायी मामलों में राजमुकुट, संसदीय स्वीकृति के संग विधान पारित करने हेतु बाध्य होते हैं; अतः संसद समेत राजमुकुट के इसी विधायी भुमका को विधायी दस्तावेजों और विधिशास्त्र में "ससंसाद संप्रभु" कहा जाता है। राष्ट्रमंडल प्रजाभूमियों में विधेयकों को पारित व लागु होने हेतु, संप्रभु, या उनके प्रतिनिधि के द्वारा शाही स्वीकृति प्राप्त करना आवश्यक होता है। ऐसी स्वीकृति के लिए विधेयकों को तभी भेज जाता है जब उन विधेयकों को संसद में पारित कर दिया गया हो। शाही स्वीकृति एवं संसदीय स्वीकृति से एक विधेयक अधिनियम बनता है। कानून के इन प्राथमिक कृत्यों को संसदीय कृत्यों के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा एक अधिनियम माध्यमिक विधान भी प्रदान कर सकता है, जिसे राजमुकुट द्वारा "संसद की अस्वीकृति के अभाव में" या साधारण अनुमोदन के आधापर बनाया जा सकता है।
वेस्टमिंस्टर प्रणाली के अनुयायी कई गणतांत्रिक देशों में, यूनाइटेड किंगडम से अपनी स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद, ससंसाद राष्ट्रपति की प्रणाली के तहत काम करते हैं, जिसमें राजमुकुट के जगह औपचारिक रूप से उस देश के राष्ट्रपति को संसद के एक घटक के रूप में सदन या दो सदनों के साथ नामित किया जाता है। ऐसा भारत, दक्षिण अफ्रीका, इत्यादि में देखा जा सकता है।

image

1. राजमुकुट और अधिकारों का संलयन
राजमुकुट की संकल्पना का ब्रिटेन तथा अन्य राष्ट्रमण्डल प्रदेशों के विधिशास्त्र तथा राजतांत्रिक व्यवस्था में अतिमहत्वपूर्ण भूमिका है। इस सोच के अनुसार राजमुकुट को प्रशासन के समस्त अंगों तथा हर आयाम में राज्य तथा शासन के प्रतीक के रूप में देखा जाता है, तथा ब्रिटिश संप्रभु को राजमुकुट के सतत अवतार के रूप में देखा जाता है। अतः ब्रिटेन तथा राष्ट्रमण्डल प्रदेशों मे इस शब्दावली को राजसत्ता के लिए एक उपशब्द के रूप में भी उपयोग किया जाता है, या सीधे-सीधे यह राजतंत्र को ही संबोधित करने का एक दूसरा तरीका है। इस संकल्पना का विकास इंग्लैण्ड राज्य में सामंतवादी काल के दौरान शाब्दिक मुकुट तथा राष्ट्रीय संपदाओं को संप्रभुनरेश तथा उनके/उनकी व्यक्तिगत संपत्ति से विभक्त कर संबोधित करने हेतु हुआ था।
राजमुकुट का, संसद का ही भाग होने की धारणा शक्तियों के संलयन के विचार से संबंधित है, जिसका अर्थ है कि सरकार की कार्यकारी शाखा और विधायी शाखा एक साथ जुड़े हुए हैं। यह वेस्टमिंस्टर प्रणाली की एक प्रमुख सिद्धांत है, जो इंग्लैंड में विकसित किया गया और आज समस्त राष्ट्रमंडल में इस्तेमाल किया जाता है। यह शक्तियों के पृथक्करण के विचार के विपरीत है। राष्ट्रमंडल विधिशास्त्र में प्रयुक्त ससंसाद "राजमुकुट", "महाराज", या "महारानी" की विशिष्ट भाषा उस संवैधानिक सिद्धांत का भी पालन करती है कि देश पर शासन का अंतिम अधिकार या संप्रभुता का स्रोत अंत्यतः राजशाही राजा के पास होती है, लेकिन यह अधिकार निर्वाचित और नियुक्त अधिकारियों के ऊपर सौंपा जाता है, जिनके सलाह पर ही राजमुकुट कार्य करता है।

2. आधिकारिक उपयोग में इन्हें भी देखें: अधिनियमन खंड
संसदीय अधिनियमों में संप्रभु के अधिकार का उल्लेख राष्ट्रमंडल देशों के विधायी संस्थानों द्वारा पारित अधिनियमों के घोषणापत्रों में देखा जा सकते है जिनके शुरूआती वाक्यांश इस बात का उल्लेख करते हैं की उक्त अधिनियम किसके अधिकार से पारित किया जा रहा है। इस शुरूआती वाक्यांश को अधिनियम खंड कहा जाता है। कानूनों के अधिनिर्णय में संप्रभु के स्थान के कारण, संसद के अधिनियम के अधिनियमन खंड में उनका या उनके साथ-साथ संसद के सदनों का उल्लेख हो सकता है। उदाहरण के लिए ब्रिटिश अधिनियम का घोषणापत्र इस प्रकार शुरू होता है: "महारानी की सबसे उत्कृष्ट महिमा द्वारा, लॉर्ड्स आध्यात्मिक और लौकिक एवं कॉमन्स की सलाह और सहमति से, इस वर्तमान एकत्रित संसद द्वारा, उनकी अधिकार से इस प्रकार अधिनियमित हो कि. । इसी तरह, कनाडाई संसद के अधिनियम में आम तौपर निम्नलिखित अधिनियमितियां शामिल होती हैं: "अब अतः, महामहिम महारानी, कनाडा के सीनेट और हाउस ऑफ कॉमन्स की सलाह और सहमति से, निम्नानुसार अधिनियमित करती हैं की." । बहरहाल, ऑस्ट्रेलियाई संसद के विधानों में, यह मानते हुए की संप्रभु संसद का ही एक हिस्सा है, अतः १९०९ के बाद के विधानों में संप्रभु के अधिकार का उल्लेख अलग से नहीं किया जाता, अतः ऑस्ट्रेलिया में संसदीय अधिनियमों के अधिनियमन खंड इस प्रकार होते हैं: "ऑस्ट्रेलिया की संसद यह अधिनियमित करती है की."
इसके अलावा क्यूबेक, जो वेस्टमिंस्टर शैली के अधिनियमन खंड का उपयोग नहीं करता है। वह इसके बजाय प्रांतीय क़ानून खंड का उपयोग इस प्रकार करते हैं: "क्यूबेक की संसद निम्नानुसार लागू करती है."। एक विशिष्टता स्कॉटलैंड की संसद के विधानों में भी देखने को मिलता है, जिसकी विधायी शक्तियाँ ब्रिटिश संसद से अवक्रमित हो कर आयी हैं, संप्रभु से प्रत्यक्ष रूप से नहीं। यद्यपि इसके अधिनियमों के लिए शाही स्वीकृति की आवश्यकता होती है मगर स्कॉटिश संसद का अधिकार यूनाइटेड किंगडम की संसद से प्रत्यायोजित किया जाता है, और "ससंसाद स्कॉटिश महारानी" के समकक्ष धारणा स्कॉटिश विधिशास्त्र में नहीं है अतः स्कॉटिश संसद के अधिनियम ब्रिटिश संसदीय शैली के लंबे शीर्षक के बजाय निम्नलिखित पाठ का उपयोग करता है: "स्कॉटिश संसद के इस अधिनियम का विधेयक संसद द्वारा तारीख को पारित किया गया था और इस पर तारीख पर शाही स्वीकृति प्राप्त हुई थी."।

ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में जूडो

जूदो को टोक्यो, जापान में 1964 के खेलों में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों में शामिल किया गया था। 1968 में शामिल नहीं किए जाने के बाद से, जूदो प्रत्येक ओलंपियाड म...

विंडोज़ मल्टीपॉइंट सर्वर

विंडोज़ मल्टीपॉइंट सर्वर एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो माइक्रोसॉफ्ट विंडोज सर्वर पर आधारित है, तथा यह एक ही कंप्यूटर से जुड़े कई समकालिक स्वतंत्र कंप्यूटिंग स्टेश...

नेटवर्क टोपोलोजी

नेटवर्क टोपोलॉजी एक नेटवर्क के लेआउट को संदर्भित करता है। किसी नेटवर्क में अलग-अलग नोड्स एक-दूसरे से कैसे जुड़े होते हैं और वे कैसे संवाद करते हैं यह नेटवर्क...

हरीश चन्द्र बर्णवाल

डॉ हरीश चन्द्र बर्णवाल एक भारतीय पत्रकार एवं लेखक हैं।इनका जन्म पश्चिम बंगाल में आसनसोल के पास नियामतपुर में हुआ। ये टेलीविज़न की भाषा किताब के लेखक हैं, जिस...

नारायण बेनीवाल

नारायण बेनीवाल एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी से जुड़े हुए हैं। उन्हें 24 अक्टूबर 2019 को खिंवसर से राजस्थान विधानसभा के सदस्य के र...

अलका राय

अलका राय भारतीय जनता पार्टी से जुड़े भूमिहार ब्राह्मण समुदाय से एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। अलका राय ने 2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा। वह मोहम्मदाब...

सह-संबंध में कारणता निहित नहीं होती

सांख्यिकी में प्रायः "सह-संबंध में कारणता निहित नहीं होती" वाक्यांश देखने को मिलता है। इसका अर्थ यह है कि केवल इस तथ्य के आधापर कि दो चरों के बीच सहसंबंध मौज...

धर्म के महत्व के आधार पर देशों की सूची

नीचे दी गई तालिका 2009 के शोध में वैश्विक गैलप पोल पर आधारित है। इसमें लोगों से पूछा गया है कि "क्या आपके दैनिक जीवन में धर्म महत्वपूर्ण है?" । "हां" और "नही...

आरिफ़ बेग

आरिफ़ बेग मध्य प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी के एक नेता थे, जो 1977-1980 के दौरान केंद्र सरकार में मंत्री थे। 1996 में उन्होंने पार्टी छोड़ दी, लेकिन 2003 में...

जगजीत कौर

जगजीत कौर हिंदी फिल्म जगत के मशहूर संगीतकार ख़य्याम की पत्नी और ख़ुद एक मशहूर पार्श्व गायिका हैं। जगजीत कौर ख़य्याम द्वारा संगीतबद्ध किये गए लोकगीतों, शास्त्...

शिक्षण सामग्री

पाठ को ठीक से समझाने के लिए शिक्षक जिन-जिन सामग्रियों का प्रयोग करता है वह शिक्षण सामग्री या शिक्षण-अधिगम सहायक सामग्री कहलाती है। इसमें पाठ्यपुस्तक आदि परम्...

मुमताज़ जज्जा

चौधरी मुमताज़ अहमद जज्जा एक पाकिस्तानी राजनेता थे जो पाकिस्तान मुस्लिम लीग राजनीतिक दल से जुड़े हुए थे, जिन्होंने 1985 से 1988 तक पाकिस्तान की नेशनल असेंबली ...

पोवीडोन आयोडीन

Povidone-iodine, जिसे iodopovidone के रूप में भी जाना जाता है, सर्जरी से पहले और बाद में त्वचा कीटाणुशोधन के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक एंटीसेप्टिक है। इ...

आशीष राजपूत

आशीष राजपूत एक छात्र कार्यकर्ता हैं जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े हैं। एबीवीपी के गुरुग्राम महानगर मंत्री रह चुके...

शिव सहस्रनाम

शिव सहस्रनाम के शिव "एक हजार नामों की सूची" है, जो हिंदू धर्म में सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक है । हिंदू परंपरा में एक सहस्रनाम का एक प्रकार है, भक्ति ...

दुर्गावती, बिहार

यह जिला के एक बड़े उप-प्रभाग के मुख्यालय के रूप में कार्य करता है. यह राष्ट्रीय राजमार्ग 19 पुराने एनएच-2 पर भभुआ शहर के उत्तर में सड़क से 30.6 किमी पर व्यवस...

देवनागरी विमर्श

देवनागरी विमर्श देवनागरी लिपि के साथ जुड़े विविध पक्षों पर केंद्रित महत्वपूर्ण पुस्तक स्क्रिप्ट विचार-विमर्श, संपादन प्रो कैलेंडर शर्मा ने किया है. भारतीय स्...

२०२० क्रोना वाइरस का स्पेन पर हमला

२०१९-२० Coronavirus प्रकोप ३१ जनवरी २०२० करने के लिए स्पेन में फैलने की पुष्टि हुई थी, जब एक जर्मन पर्यटक ने ला गोमेरा में सार्स-CV-२ के लिए सकारात्मक परीक्ष...

कम्बोडिया का इतिहास

कंबोडिया के इतिहास की जड़ों को भारतीय सभ्यता से जुड़ी हैं । वर्तमान समय में कंबोडिया के अधीन है, जो इलाके का है कि इलाके की राजनीतिक संरचना से संबंधित दस्ताव...

शारदा सुमन

सुश्री शारदा सुमन Kvitko के काम कर रहे हैं Kvitko से जुडी है और इस कोश में कविता के संयोजन के द्वारा अपने योगदान हो सकता है. बचपन से ही साहित्यिक रुचि के बाव...

चौधरी योगी

चौधरी योगी का जन्म 28 सितंबर, 2001 को उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहर कानपुर में चौधरी योगी उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहर कानपुर के एक प्रमुख नफरत है. अपने प्रारंभिक...

2020 कोरोनावायरस महामारी के दौरान दिल्ली का तबलीगी जमात घटना

मार्च के प्रारंभ में दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज मस्जिद में होने वाला तबलीगी जमात नामक मजहबी जनसमूह कोरोनवायरस के एक तिव्र-प्रसारक घटना के रूप में सामने आया, ...

गया जंक्शन रेलवे स्टेशन

गया जंक्शन रेलवे स्टेशन, भारत में बिहार राज्य के गया शहर में स्थित एक रेलवे जंक्शन स्टेशन है। गया पूर्व मध्य रेलवे ज़ोन के मुगलसराय रेल मंडल के अन्तर्गत आता ...

दानव

हिंदू पौराणिक कथाओं में, दानव एक जाति थी जो दक्ष प्रजापति की वंशज थी। वे दनु के पुत्र थे, जो स्वयं दक्ष प्रजापति की पुत्री थीं। दनु स्वर्ग के जल से जुड़ी हुई...

हटिया रेलवे स्टेशन

हटिया रेलवे स्टेशन, भारतीय राज्य झारखंड की राजधानी रांची में स्थित एक रेलवे स्टेशन है। हटिया स्टेशन भारतीय रेलवे के दक्षिण पूर्वी रेलवे ज़ोन के रांची रेलवे म...

राउरकेला जंक्शन रेलवे स्टेशन

राउरकेला रेलवे स्टेशन भारतीय राज्य ओडिशा के उत्तर-पश्चिमी भाग में सुंदरगढ़ जिले के राउरकेला में स्थित एक रेलवे जंक्शन है। राउरकेला ओडिशा में तीसरा सबसे बड़ा ...

औरंगाबाद रेलवे स्टेशन

औरंगाबाद रेलवे स्टेशन सिकंदराबाद-मनमाड खंड पर स्थित एक रेलवे स्टेशन है जो मुख्य रूप से औरंगाबाद शहर को सेवा मुहैया कराता है। यह रेलवे स्टेशन दक्षिण मध्य रेलव...

वापी रेलवे स्टेशन

वापी रेलवे स्टेशन, गुजरात राज्य के वापी शहर में पश्चिम रेलवे संजाल पर स्थित एक रेलवे स्टेशन है। यह सूरत के बाद दक्षिण गुजरात का एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है। वा...

कटक जंक्शन रेलवे स्टेशन

कटक जंक्शन रेलवे स्टेशन, भारतीय राज्य ओडिशा के कटक शहर में स्थित एक रेलवे जंक्शन है। यह स्टेशन पूर्वी तटीय रेलवे ज़ोन के अन्तर्गत खुर्दा रोड रेलवे मंडल द्वार...

तृश्शूर रेलवे स्टेशन

तृश्शूर रेलवे स्टेशन, भारतीय राज्य केरल में स्थित एक रेलवे स्टेशन है। त्रिशूर को केरल की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। त्रिशूर रेलवे स्टेशन ...

गुंटूर जंक्शन रेलवे स्टेशन

गुंटूर रेलवे स्टेशन आन्ध्र प्रदेश के गुंटूर शहर में स्थित एक भारतीय रेलवे स्टेशन है। यह दक्षिण तट रेलवे ज़ोन में गुंटूर रेलवे मंडल के कृष्णा नहर-गुंटूर खंड प...

कोष़िक्कोड रेलवे स्टेशन

कोष़िक्कोड रेलवे स्टेशन या जिसे कालीकट रेलवे स्टेशन के रूप में भी जाना जाता है, भारत के कालीकट शहर का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है। यह दक्षिण भारत के सबसे पुरान...

बाबू लक्ष्मी प्रसाद

==Rajnandan== बाबू लक्ष्मी प्रसाद इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस INTUC के नेता हैं। चंपारण सुगर कं लिमिटेड बारा चकिया का चीनी मिल जब तक चालू था वे वहाँ क...

शिबलापूर

शिबलापूर भारतीय राज्य महाराष्ट्र के अहमदनगर ज़िले के संगमनेर तालुके में एक गाँव है। गाँव की प्रसिद्धि का कारण भैरवनाथ मंदिऔर शाहीशिबली बाबा स्थान हैं। यह गाँ...

नाहिल

भारत के सबसे बड़े प्रान्त उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जनपद में स्थित गांव नाहिल अपने भव्य इतिहास की वजह से प्रसिद्ध है । आजादी का आंदोलन हो, क्रांति हो अथवा स...

बिरला मंदिर (कोलकाता)

बिरला मंदिर भारत के राज्य पश्चिम बंगाल की राजधानी दक्षिण कोलकाता के आशुतोष चौधरी रोड, बालीगंज में स्थित हैा यह मंदिर कोलकाता के संस्कृतिक से जुड़ा एक हिन्दू ...

हावड़ा-इलाहाबाद-मुंबई रेलमार्ग

हावड़ा-प्रयागराज-मुंबई रेलमार्ग प्रयागराज के माध्यम से कोलकाता और मुंबई को जोड़ने वाली एक रेलवे मार्ग है। 2.127 किमी लंबी रेलमार्ग को 1870 में यातायात के लिए...

घर स्वचालन

होम ऑटोमेशन या डोमॉटिक्स एक घर के लिए स्वचालन का निर्माण कर रहा है, जिसे स्मार्ट होम या स्मार्ट हाउस कहा जाता है। एक होम ऑटोमेशन सिस्टम प्रकाश व्यवस्था, जलवा...

2020 तमिल नाडु में कोरोनावायरस महामारी

भारतीय राज्य तमिल नाडु में 2019-20 कोरोनोवायरस महामारी का पहला मामला 7 मार्च 2020 को पुष्ट किया गया था। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग ने 28 अप्रैल 2020 तक...

दलसिंहसराय

दलसिंहसराय या दलसिंग सराय बिहार के समस्तीपुर जिले का एक शहर है, जो बालन नदी के तट पर स्थित है। दलसिंहसराय शहर अंग्रेजों के समय एक तंबाकू और इंडिगो उत्पादन के...

देवी श्री महालक्ष्मी धाम ऊन

साँचा:देवी श्री महालक्ष्मी मन्दिर ऊन से जुडी खास बातेदेवी श्री महालक्ष्मी मन्दिर से जुड़े रोचक तथ्य दिनेश दसोंधी ऊन द्वारा सम्पादित:- ऐतहासिक मन्दिरों की नगर...

लडाकू पतंगें

सेनानी पतंगें वे पतंगें होती हैं जो पतंग-लड़ाई के खेल के लिए इस्तेमाल की जाती हैं। परंपरागत रूप से ज्यादातर छोटे, अस्थिर सिंगल-लाइन फ्लैट पतंगें होती हैं जहा...